new toll tax rules

1 जनवरी से न्यू टोल टैक्स रूल : कार में FASTag नहीं लगाया तो होगी परेशानी

नवंबर 2020 में सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय (NHAI) ने एक अधिसूचना जारी कर 1 जनवरी 2021 से चार पहिया वाहनों के लिए FASTag अनिवार्य कर दिया है। इसलिए आपके कार में अगर FASTag नहीं है तो आपको यात्रा में परेशानी उठानी पर सकती है। इसी कड़ी में किसी भी वाहन के रजिस्ट्रेशन से पहले FASTag लगाना सुनिश्चित कर दिया गया है। इसके लिए RTO की तरफ से सभी डीलरों को नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया है कि 25 दिसंबर 2020 के बाद इस नियम का पालन किया जाये।

FASTag निजी या व्यावसायिक वाहन सभी गाड़ियों के लिए अनिवार्य है।

FASTag new rule from 1 January
FASTag new rule from 1 January

राष्ट्रीय राजमार्ग (नेशनल हाईवे) पर यदि आप यात्रा करते हैं और अगर आपके वाहन पर FASTag नहीं लगा हुआ है, तो आपको टोल टैक्स में किसी प्रकार की रियायत नहीं दी जाएगी। नए नियमों के तहत अगर आप उसी टोल प्लाजा से 24 घंटे के भीतर आना-जाना करते हैं तो आपको 50 फीसदी तक की छूट मिलेगी। इसका सीधा मतलब यह है कि आपके एक तरफ से आने का टोल टैक्स माफ कर दिया जाएगा, केवल एक तरफ के ही टोल टैक्स को वसूला जाएगा।

आप www.fastag.org पर जाकर FASTag के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं.

FASTag के बारे में :

FASTag राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक टोल संग्रह (NETC) की दिशा में एक पहल है, जिसे नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) द्वारा नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (NHAI) और इंडियन हाईवे मैनेजमेंट कंपनी लिमिटेड (IHMCL) के दिशा-निर्देशों के तहत प्रबंधित किया जाता है।

FASTag एक टैग है जो स्वचालित रूप से टोल शुल्क काट लेता है और वाहन को बिना कैश ट्रांज़ैक्शन किये, बिना रुके टोल गेट से गुजरने की अनुमति देता है। इसके लिए FASTag से लिंक्ड  प्रीपेड खाते से कैशलेस भुगतान करने के लिए यह रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (RFID) तकनीक का उपयोग करता है।

यह भी पढ़ें : Positive Pay System : 1 जनवरी से बदल जाएगा चेक पेमेंट सिस्टम

FASTag एक वाहन के विंडस्क्रीन (सामने का  शीशा) में फिक्स कर दिया जाता है और टोल गेट में लगा  एक RFID एंटीना वाहन में लगा FASTag के  QR कोड और टैग पहचान संख्या को स्कैन करता है, जिसके बाद वाहन को गुजरने की अनुमति देता है।

Color code of 7 FASTag
Color code of 7 FASTag

FASTag पांच साल के लिए वैध है। यह सात अलग-अलग रंगों में आता है — नीला, गुलाबी, काला, बैंगनी, नारंगी, हरा, पीला। प्रत्येक रंग वाहनों की एक विशेष श्रेणी को दिया जाता है।

कार चलाने वालों के लिए नीले रंग वाला टैग चाहिए।

FASTag कहाँ से खरीदें:

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय के अनुसार, सभी राष्ट्रीय राजमार्ग टोल प्लाजा, क्षेत्रीय परिवहन कार्यालयों (RTO), ट्रांसपोर्ट हब, सामान्य सेवा केंद्रों, साथ ही पेट्रोल पंपों से FASTag खरीदा जा सकता है।

यह भी पढ़ें – अपने ITR को दर्ज करने के लिए आपको 31 दिसंबर की समय सीमा का इंतजार क्यों नहीं करना चाहिए

इन्हें PayTM और Amazon जैसी ई-कॉमर्स वेबसाइटों के माध्यम से भी खरीदा जा सकता है

अब तक भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (NHAI) ने 27 बैंकों के साथ टाई अप किया है, जिनके द्वारा उपभोक्ता FASTag खरीद और रिचार्ज कर सकते हैं।

Sl. No. Member Banks Contact Number (Toll-Free)
1 Airtel Payments Bank 400
2 Allahabad Bank 1800-572-2000
3 AU Small Finance Bank 1800-1200-1200
4 Axis Bank 1800-419-8585
5 Bank of Baroda 1800-103-4568
6 Canara Bank 1800-425-0018
7 City Union Bank 1800-258-7200
8 Equitas Small Finance Bank 1800-419-1996
9 Federal Bank 1800-266-9520
10 FINO Payments Bank 1860-266-3466
11 HDFC Bank 18000-120-1243
12 ICICI Bank 1800-2100-104
13 IDBI Bank 1800-209-4324
14 IDFC FIRST Bank 1800-266-9970
15 Indusind Bank 1860-500-5004
16 Karur Vysya Bank 1800-102-1916
17 Kotak Mahindra Bank 1800-419-6606
18 Nagpur Nagarik Sahakari Bank 1800-266-7183
19 PayTM Payments Bank 1800-102-6480
20 Punjab & Maharashtra Co-op Bank 1800-223-993
21 Punjab National Bank 080-67295310
22 Saraswat Co-operative Bank 1800-266-9545
23 South Indian Bank 1800-425-0585
24 State Bank of India 1800-11-0018
25 Syndicate Bank 1800-425-0585
26 Union Bank of India 1800-22-2244
27 Yes Bank 1800-1200

 

उपयोगकर्ता के लाभ:

  • NHAI के पास FASTag के लिए एक मोबाइल एप्लिकेशन भी है, जो उपयोगकर्ता को इन टैग को खरीदने और रिचार्ज करने की अनुमति देता है और साथ ही विभिन्न मार्गों पर टोल दरों की जानकारी भी प्रदान करता है।
  • टोल शुल्क भुगतान के इस गेटवे के माध्यम से, उपयोगकर्ताओं को एक महीने में उनके द्वारा भुगतान किए गए कुल टोल का 5% वापस कर दिया जाता है।
  • एक फायदा यह भी है कि इससे कार फ्यूल और समय की भी बचत होगी, इस ऑटोमेटेड सिस्टम से।
  • कैब संचालकों और ट्रांसपोर्टरों के लिए तो  यह तकनीक काफी सुविधाजनक है। उन्हें हर टोल गेट पर गुजरते ही SMS अलर्ट मिल जाता है, जिससे उन्हें अपने वाहनों की आवाजाही को ट्रैक करने में काफी आसानी होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.